Saturday, 23 November 2013

Kumar Vishwas Shayari






तुम्ही पे मरता है ये दिल,अदावत क्यों नहीं करता ?
कई जन्मों से बंदी है,बगावत क्यों नहीं करता ?
कभी तुमसे थी जो,वो ही शिकायत है ज़माने से,
मेरी तारीफ़ करता है, मोहब्बत क्यों नहीं करता …..?

Dr. Kumar Vishwas

No comments:

Post a Comment

Note: only a member of this blog may post a comment.