Thursday, 30 January 2014

HIndi Love SMS 2014

HIndi Love SMS

Agar rakh sako to ek NISHANI hu mai,
Aur kho do to ek KAHANI hu mai,
ROK paya na jise ye JAHAN sara ,
Woh ek BOOND aankh ka PAANI hu mai

Tuesday, 21 January 2014

Shayari In Hindi Font

Hindi Font Shayari

खामोश हूँ मगर चेहरोँ की शिकन से वाकिफ हूँ ।
क्या हो रहा है जमाने के चलन से वाकिफ हूँ ।।
ये खूबसूरत फूल भी नर्म मगरबेवफा होते हैँ ।
कोई माने या ना माने मैँ इस चमन से वाकिफ हूँ ।।
मैँने भी सुना है के वफा बडी हशीँ चीज होती है ।
कोई मुझसे भी पूँछे मैँ इसकी चुभन से वाकिफ हूँ।।
मैँ तन्हाँ भी हूँ और सुकूँन-ओ-चैन से महरूम भी।
दिल पर लगी है मैँ इस जलन सेवाकिफ हूँ ।।
उससे टूट कर वफा करता हूँ आज भी मैं ।
वो भी कहे किसी रोज के तेरे पागलपन से वाकिफ हूँ ।।

Monday, 20 January 2014

हिंदी एस एम एस

हिंदी एस एम एस

Jiss din band ho gayi meri Aankhein,
Kayi Aankhon se uss din aansu barseinge,
Jo kehte hai bahut bolta hai,
Kabhi wohi meri Aawaz sunne ko tarseinge...

Thursday, 16 January 2014

देश भक्ति की कविता


Aajadi Ki Kabhi Shaam Nahi Hone Denge,
Sahidon Ki Kurbani Badnaam Nahi Hone Denge,
Bachi Ho Jo Ek Bund Bhi Garam Lahu Ki,
Tab Tak Bharat Mata Ka Aanchal Nilaam Nahi Hone Denge...

Saturday, 11 January 2014

शायरी एस एम एस


हटालो अपने चहेरे से झुल्फे . .
हो जायेगी जरुर सुबहा ऐक दिन . .
यु न फैलाओ सरे आम बदन की खुश्बू . .
वरना हो जायेगा ये फुल भी रुसवा ऐक दिन . . . .

Monday, 6 January 2014

हास्य शायरि

हास्य शायरि


बारिश का मौसम बहुत तडपता है;
उनकी याद हैं जिन्हें दिल चाहता है;
लेकिन वो आए भी तो कैसे;
ना उनके पास रैन कोट है और ना छाता है।

Sunday, 5 January 2014

Funny Shayari in Hindi Fonts


वो कहती थी कि मैं तुम्हारी जिन्दगी को जन्नत;
बना दूंगी, बनानी तो उसे मैगी भी नहीं आती थी;
लेकिन मैडम का आत्मविश्वास तो देखो।

Saturday, 4 January 2014

इंतजार की शायरी

इंतजार शायरी

जब भी खुदा को याद किया नज़र तु ही आया;
ये मेरे दीवाने पन के लिए तेरे दीदार की हद थी;
हम तो मर गये मगर खुली रही आँखे हमारी;
बेवफा तु नहीं आया ये तेरे इंतज़ार की हद थी।

Friday, 3 January 2014

हिंदी शायरी


हिंदी शायरी



हर धड़कन में एक राज़ होता है;
बात को बताने का एक अंदाज़ होता है;
जब तक ठोकर न लगे बेवाफ़ाई की;
हर किसी को अपने प्यार पर नाज़ होता है।