Saturday, 22 February 2014

जिन्दगी शायरी

जिन्दगी शायरी


रोने से किसी को पाया नहीं जाया ,
खोने से किसी को भुलाया नहीं जाता ,
वक्त सबको मिलता है जिन्दगी बदलने के लिए ,
पर जिन्दगी नहीं मिलती वक्त बदलने के लिए |

No comments:

Post a Comment

Note: only a member of this blog may post a comment.